Print Friendly, PDF & Email

आकर्षण-मन्त्र
मन्त्र — “ॐ नमो आदि-रूपाय ‘अमुक’ आकर्षण कुरु कुरु स्वाहा । “

vaficjagat
विधि – काले धतूरे के पत्तों का रस और गोरोचन को मिलाकर सफेद कनेर की कलम से भोज-पव पर मन्त्र को लिखे । खैर-सार अंगारों में तपाए, तो कोई व्यक्ति यदि एक सौ कोस दूर भी चला गया हो, तो वापस आ जाएगा । ‘अमुक’ स्थान पर अभीष्ट व्यक्ति का नाम बोले । वही नाम भोज-पत्र पर भी लिखे ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.