ख्वाबनामा

यह नहीं है कि ख्वाब सिर्फ निद्रावस्था में ही दिखाई देते हों, अपितु जाग्रतावस्था में भी उतनी ही सरलता से ख्वाब देखे जा सकते हैं । फर्क सिर्फ इतना होता है कि जाग्रतावस्था में हम अपनी इच्छानुसार ख्वाब देख सकते हैं जबकि निद्रावस्था में देखे जाने वाले ख्वाबों पर हमारा या हमारे मन का कोई नियंत्रण नहीं होता है ।

ख्वाबों की ताबीर विचार के समय ‘स्वप्न दर्शन काल’ अर्थात् स्वप्न देखे जाने का समय स्वप्न-फल से महत्त्वपूर्ण संबंध रखता है । यथा रात्रि के प्रथम प्रहर के स्वप्न-फल एक वर्ष पश्चात्, द्वितीय प्रहर के स्वप्न फल छः मास के पश्चात्, तृतीय प्रहर के स्वप्न का फल तीन माह पश्चात् और चतुर्थ प्रहर के स्वप्न का फल एक माह पश्चात् मिल जाता है । सर्वाधिक महत्त्वपूर्ण समय ब्रह्ममुहूर्त अर्थात् सूर्योदय से पूर्व देखे जाने वाला स्वप्न पूर्णत: सत्य पर आधारित होता है । और इसका फल भी तत्काल मिलता है । यहाँ कुछ स्वप्नों के परिणाम प्रस्तुत है –

ख्वाबों की ताबीर

अंगूठी – विवाहित मनुष्य द्वारा ख्वाब में सोने की अंगूठी देखना द्रष्टा के व्यापार में उन्नति और सफलता का सूचक है । विवाहित स्त्री यही ख्वाब देखे तो उसे पुत्र पैदा होगा । यदि कोई कुंवारा यह देखे तो उसका विवाह मनचाही स्त्री से होगा ।
अण्डे – ख्वाब में अण्डे देखना या अण्डे खाना बहुत शुभ होता है । टूटे हुए अण्डे देखना झगड़े और मुकदमेबाजी की सूचना देता है । मुर्गी के अण्डों का ढेर देखना व्यापार में वृद्धि और लाभ का सूचक है ।
अर्थी – यदि ख्वाब में अर्थी देखे तो वह विवाह अथवा किसी समारोह में शामिल होगा । यदि वह अर्थी ले जाने वालों के साथ सम्मिलित हो तो उसे किसी बारात का निमंत्रण मिलेगा ।
अप्सरा – यदि कोई पुरुष ख्वाब में अप्सरा देखे तो उसे समस्त प्रकार का सुख और प्रसन्नताओं की प्राप्ति होगी । यदि कोई स्त्री यही ख्वाब देखे तो अच्छा शगुन है । कुंवारी कन्या यही ख्वाब देखे तो उसका शीघ्र ही विवाह होगा ।
आग के शोले देखना – जो व्यक्ति जलती हुई आग के शोले देखे उसे बहुत खुश होना चाहिए, अगर ख्वाब में आग का देखने वाला कुंवारा है तो जीवन साथी मन पसन्द मिलेगा, यदि सूखा पड़ा हो तो बरसात बहुत होने का संकेत है ।
आसमान देखना – ख्वाब में आसमान देखना बहुत अच्छा है । ऊँची पदवी प्राप्त हो, समाज में ऊँचा स्थान मिले, भाग्यशाली पुत्र उत्पन्न हो, अगर आसमान पर स्वयं को उड़ता हुआ देखे तो यात्रा को अवसर मिले और जिस उद्देश्य से यात्रा हो उसमें पूर्ण सफलता मिले ।
आग जलाकर भोजन बनाना – यदि कोई चूल्हे या भट्टी की जलती आग में खाने का कोई सामान बनाते हुए देखे तो उसे बहुत प्रसन्न होना चाहिए । यदि वह व्यापारी है तो बहुत लाभ हो । नौकर है तो वेतन बढ़ जाए, अकारण खर्च न बढ़ेंगे और हर प्रकार का सन्तोष प्राप्त होगा । यदि आग जलाते हुये खवाब में कपड़ा जल जाए तो कई प्रकार के दुःख मिले, आंखों को किसी प्रकार की पीडा या रोग हो ।
अखरोट देखना – खूब बढ़िया भरपूर भोजन पाए । धन में लाभ और संतोष मिले ।
इमारत देखना – धनाढ्य बन जाए, नगर सेठों में नाम आए. इज्जत और सम्मान मिले ।
इकरार करते देखना – किसी को झूठी दिलासा न दे । सत्य वचन कहे तो खुशी हो ।
इश्तेहार पढ़ना – कुछ खो जाये, झूठे व्यापारी से हानि हो, कष्ट मिले ।
इम्तेहान पास करना – काम पूरा होगा, प्रेमिका मिले, यश और धन का लाभ ।
इत्र (इतर) लगाना – अच्छे कर्मों का पुण्य हो, मनचाही स्त्री से निकटता मिले, संसार में इज्जत मिले, ख्याति पाये ।
उल्लू देखना – किसी की मृत्यु का समाचार मिले, तबाही आए, सूखा पड़े या बाढ़ या भूचाल आये, दुःख का संकेत है यही हाल उजड़ा गाँव या खेत देखने पर होगा ।
उबकाई लेना – बुरे कामों से घृणा हो । लोगों को सीधा मार्ग बताये ।
उस्तरा देखना – चिन्ता मुक्त हो, जेब कट जाए, बीमारी दूर हो ।
ऊबड़-खाबड़ रास्ता देखना – परेशानी उठाए लेकिन अन्त में सफलता पाये ।
ऊँचे वृक्ष देखना – उद्देश्य पूर्ति में देर लगेगी, इज्जत और मान प्राप्त हो ।
ऊन देखना – ऊन वाली भेड़ या ऊनी कपड़े या ऊन का ढेर देखे तो धन का लाभ हो, चिन्तायें मिटे, कई प्रकार का सुख भोगने को मिले ।
ऊँचे पहाड़ देखना – कठिनाई के बाद राहत पायेगा, कोई बड़ा कार्य करें ।
कब (लम्बा ढीला कुर्ता ) पहनना – विवाह हो जाए, खुशहाली हो । इज्जत और स्नेह प्राप्त हो । दुश्मन मित्र बन जायें, शुभ समाचार मिले।


कत्ल करना (स्वयं को) – अच्छा सपना है, लेकिन बुरे कामों से बचें और धर्म कर्म की ओर ध्यान दें, बुरों की संगति से बचना आवश्यक है ।
कब्र खोदना – नव निर्माण करे, मकान बनाए, धन पाए, खुशहाल बने ।
कदम देखना – शान शौकत बढ़े । धन और विश्वास का पात्र मिले । स्त्री देखे तो पुत्र प्राप्त हो, दुःखी देखे तो दुःख मुक्त हो । मालदार देखे तो कोई सुन्दर स्त्री हाथ थामे जिसके साथ आनन्द मिले । बीमार देखे तो स्वस्थ हो जाए ।
कैंची देखना – प्रेमीजी, पत्नी या मित्र से आदवत हो, दुःख पहुंचे ।
काफिला देखना –
यदि खुशहाल लोगों को आते देखे तो तबाही आए, जाते देखे तो मनोकामना सिद्ध होगी । यात्रा करनी पड़े और कष्ट के बाद राहत पाए ।
किला देखना – खुशी प्राप्त होगी । दुश्मन से सुरक्षित रहे, शान्ति और सुख का संदेह है । कहीं से शुभ संदेश मिले जिससे खुशी बढ़ जाए ।
कफन देखना – चिरायु हो । हर प्रकार की बीमारी से स्वास्थ्य लाभ होगा । कोई सगा सम्बन्धी बीमार हो तो अच्छा हो जाए ।
काबा शरीफ का दीदार करना – बहुत बड़ा ओहदा मिले या धन का लाभ हो । अच्छे कार्य करके नामवर हो जाए । हर प्रकार का सुख मिले ।
कमंद देखना – बड़ा काम पड़े किन्तु सहयोगी मिले । सफलता और ऊँचा स्थान प्राप्त होगा । किसी प्रकार का सुख मिले । शुभ समाचार आए ।
कमल देखना – साधुसन्तों से ज्ञान की प्राप्ति हो । विद्या धन मिले । उत्तीर्ण हो, पत्नी सुन्दर मिले । प्रेमिका सुन्दर और बुद्धिमान मिले ।
कोयल देखना – प्रेम जाल में फंसकर दुःख पाय, लेकिन प्रेयसी से मिलन हो और सुख पाये । मुसीबत आए पर तुरन्त दूर हो जाए । धन मिले पर शीघ्र ही खर्च हो जाए ।
काला कुत्ता देखना – कार्य में सफलता होगी । बिगड़े काम बनेंगे । दुश्मन अपने आप दोस्त बन जायेंगे ।
कूड़े करकट का ढेर देखना – धन मिलेगा लेकिन बहुत कठिनाई के बाद, अभी तो बहुत दिन दुःख भोगने है ।
काले कपड़े पहिनना – नगर का कोई बड़ा आदमी संसार से विदा होगा, देखने वाले को राहत मिलेगी ।
खून पीना – हराम का माल खाए, बुराई करे किसी की हत्या करे और फिर पापों का प्रायश्चित करे बुरे काम को छोड़ दे ।
खाक (धूल-मिट्टी) की बारिश देखना – मुसीबतें टल जायें, धन मिले । दुश्मनी समाप्त हो जाए दुश्मन दोस्त बन जाये ।
खाना परोसना – सुख शांति का आगमन हो, शादी हो । पत्नी सुशील मिले ।
खिलौने देखना – सन्तान का जन्म हो, आँखों का सुख मिले । पत्नी राजी हो ।
खच्चर का दूध पीना – हर समय चिन्ता में उलझा रहे । कोई काम बनाये न बने । लज्जित और तुच्छ बना रहे ।
खजूर देखना – विद्या मिले, अच्छे कामों से मन को खुशी मिले । दीन का ज्ञान प्राप्त हो । खजूर की गुठली देखे तो रंज हो, यात्रा करनी पड़े । खजूर बटोरते देखे तो अच्छी बातें सुने, अच्छे काम करे । खजूर चीरकर गुठली निकालें तो मनोकामना पूर्ण हो, पुत्र प्राप्त हो ।
खूबानी देखना – बीमारी या दुःख सामने आए, किन्तु शीघ्र ही राहत हो ।
खसखस देखना – खसखस पोस्त के बीज को कहते हैं, देखे तो हलाल रोजी पाए, नेकी के काम करे और लोगों में सम्मान पाए, खुदा के सामने अच्छे बने ।
खेमा देखना – बादशाह अर्थात् सरकारी अधिकारियों, मंत्रियों की निकटता प्राप्त हो, प्रेमिका कुंवारी से काम सुख मिले, जायदाद खरीदे या पाये, काफी ख्याति अर्जित करे ।
खाल देखना – खाल हलाल जानवर की है जो रोजी खूब मिले, मुरदार हो तो दुःख और गुनाहों में फंसे, हिरण की खाल हो तो काम करे और बहुत नाम पाए, खाल शेर की हो तो शत्रु से विजय पाये ।
खाट देखना – मनहूस हैं, देखने वाले को खुदा को याद करना चाहिए यदि खाट पर बिछौना देखे तो शादी हो, आराम मिले, काम खराब मिले, इतना कि हरदम उसी में खोया रहे और सब कुछ बन जाए । बीमार पड़े ।
खेत देखना – विद्या और धन का लाभ हो, खुशहाली हो, घर भूरा पूरा रहे ।
खलिहान देखना – जो इरादा है वह पूरा हो जाये, कोई काम अटकेगा सम्मान मिले जमीन जायदाद से लाभ होगा मालिक या अधिकारी से दोस्ती जो खुशी का संकेत है ।
खुले किवाड़ देखना – हर काम जो करेगा उसमें सफलता, हर यात्रा सफल हर दुश्मन परास्त कोई चिन्ता न रहे बिगड़ी बन जायेगी खुशहाली आयेगी । आशा के विपरीत धन मिले, विपत्तियां दूर हो शोहरत और इज्जत मिले, व्यापार में लाभ हो, सरकारी दरबार में जाने का अवसर मिले ।
गधा देखना – प्रेम और स्नेह का चिन्ह है यदि लदा हुआ पाये तो बहुत लाभ हो हर तरह का सुख मिले । व्यापार में लाभ हो ।
गधे की सवारी करना – सरकारी दरबार में स्थान मिले, व्यापार में लाभ हो संकट टल जाये, कोई शुभ समाचार मिले ।
गुलाब देखना – ऊंचा स्थान मिले जनता में लोकप्रियता, व्यापार करे तो बहुत लाभ हो । शुभ समाचार मिले । दोस्तों से स्नेह और दुश्मनों से सन्धि पड़े, प्रेमिका से मिलन हो ।
गोश्त (कच्चा ) खाना – भाई से दुःख मिले, हराम का माल हाथ आए और वही दुःखों का कारण बने ।
गालियां देते देखना – देते हुये या सुनते हुये देखे तो बुरी बातों से बचे, बुरा काम करे और बदनामी पाये ।
गली देखना – यदि सुनसान है तो लाभ होगा । लोगों से भरी है तो मुहल्ले में किसी की मृत्यु हो, खुशहाली कठिनाई से जाएगी ।
गोबर देखना – कुबेर का धन मिले । खेती में अन्न उपजे, दूध घी की कमी न हो । शुभ समाचार आये ।
घोडा (काले रंग का) देखना – बड़ा स्थान पाएगा, नामबर होगा. सब जगह सम्मान होगा ।
घोड़ी देखना – कुंवारा हो तो शादी की तैयारी करे पत्नी सुन्दर मिलेगी ।
घी देखना – धन दौलत मिलेगी, तंगी नहीं रहेगी ।
घास देखना – लाभ ही लाभ होगा । खुशहाली आयेगी, कोई शुभ समाचार मिलें ।
घर (लोहे का ) देखना – बहुत शक्ति, धन, यश, सन्तान, पत्नी, प्रेमिका मित्र, सम्बन्धी हर प्रकार का सुख प्राप्त होगा ।
चाँद देखना – बादशाह (प्रधान या प्रधानमंत्री) बन जाये, पत्नी सुन्दर और सुघड़ मिले, कुबेर का धन प्राप्त हो ।
चाँदी गलाते हुए देखना – अपने ही लोगों से बैर हो, चिन्ताओं के संकट में घिर जाए और कई प्रकार का दुःख पाये ।
चादर देखना – पत्नी वफादार और सुशील मिले । कोई बुरा करने की भूल हो जाय जिसके परिणामस्वरूप लज्जित होना पड़े ।
चक्की देखना – जनता में सम्मान पाए, लोगों को अच्छी सलाह दे, यात्रा सामने आए, सकुशल वापसी हो ।
चींटियां देखना – वह घर उजड़ जाए । रहने वाले कम हो जायें, दुःख हो संकट आए ।
जाम देखना – हर काम में सफलता होगी, बुद्धि बढ़ेगी और कई प्रकार की ऐसी विशेषताएं प्राप्त होगी जिनसे मनुष्य लोकप्रिय होता है ।
जेल देखना – जग हँसाई हो, बदनामी के काम करे, जेल से बाहर आता देखे तो उद्देश्य सफल होगा ।
जहाज देखना – क्रोध और अदावत से मुक्ति मिले, माल का व्यय बहुत हो किन्तु मन का संतोष रहे किसी प्रकार की चिन्ता हो वह दूर हो जाये ।
जल्लाद देखना – कोई बुरा काम करे, दुःख पाये, दुश्मन का भय रहे किन्तु आयु बढ़ेगी ।
जंग देखना – किसी पर लांछन न लगाये । पीठ पीछे बुराई न करे अन्यथा बड़ी मुसीबत खड़ी हो जायेगी और सपना देखने वाला ही नहीं सारा परिवार परेशान हो सकता है ।
जंगल देखना – कोई कष्ट चल रहा है वो शीघ्र दूर होगा, आराम और खुशी का सन्देश है । यदि जंगल में सूखे पेड़ है तो दुःख बीमारी का संकेत भी है ।
जालिम को देखना – बुरे काम में फंस जाए, दुःखों का सामना करना । बहुत दुःख पाये, दान करे, शुभ कार्य में मन लगाए ।
झाडू देखना – ख्वाब मनहूस है, परेशानी हो तंगी जाए, दान देना चाहिए ।
जलसा देखना – अगर जलसे में लोगों को प्रसन्न देखे तो सुख पाये यदि दुःखी देखे तो अपने किसी निकटवर्ती के विषय में अशुभ समाचार सुने ।
जंजीर हाथ में लेना – गुनाहों में फंस जाए, पकड़ा जाए या मुकदमा चले. सवारी होगी, दुःख झेलना होगा । किसी से प्रेम में कष्ट उठाए ।
जिन्दा व्यक्ति को मृत देखना – जिसे देखे उसकी आयु बढ़े, परेशानी दूर हो । खोये हुये के मिलने का समाचार मिले । किसी प्रकार का भी शुभ समाचार मिल सकता है ।
जहर खाना – लोगों में अकारण बुरा बनना होगा । बदनाम होना पड़ेगा. गलत कामों से बचें । अच्छे लोगों की संगति में बैठे ।
ठण्ड से ठिठुरना – अगर देखने वाला बहुत दिनों से दुःखी है तो उसे हर तरह का सुख शीघ्र ही मिलने वाला है ।
ठोकर मारना – बड़ा स्थान मिले । शत्रु पर विजय पाए । सुन्दर स्त्री मिले या फिर सन्तान की प्राप्ति हो । धन दौलत का सुख भी मिल सकता है ।
डोली सजाते देखना – मनोकामना पूरी हो । कोई ऊँचा स्थान मिले । विवाह हो या नेता चुना जाए ।
डिबिया देखना – मन की बात खुल जाने के कारण शर्मिन्दा होना पड़े कोई ऐसी बात हो जाए जिससे अकारण की उलझन हो ।
डाकिया देखना – शुभ सूचना आए, चिरायू हो, किसी बिछुड़े यार का पत्र कुशलता का आए ।
डलिया देखना – मनोकामना पूरी होगी, किसी ऐसे साधन से लाभ होगा जिसके विषय में कभी सोचा तक नहीं होगा ।
डाकू देखना – दुश्मन से डर है, कोशिश करो कि मामला बातचीत से तय हो जाए, कोई ऐसा मित्र भी दुश्मन हो सकता है, जिस पर बहुत भरोसा हो । बेटी बहिन जवान है तो शीघ्र विवाह का प्रयास करना चाहिए, अपनी पत्नी पर नजर रखना आवश्यक है ।
ढाक का वृक्ष देखना – किसी साधु, सन्त, पीर, फकीर की संगत मिले, भोजन भरपूर मिले, मनोकामना सिद्ध होने का संकेत है ।
ढलता हुआ सूरज देखना – परेशानी और धन के विघटन की निशानी है, सूर्य अस्त होता देखे तो किसी की मौत का समाचार मिले ।
ताबूत देखना – अपना ताबूत, अर्थी या जनाजा देखने का फल यह है कि जिस काम को कर रहे है, उसमें पूर्ण सफलता, जिस दुश्मन से दुश्मनी चल रही है उस पर विजय होगी ।
तोशक (गद्दा ) देखना – विवाह हो । पत्नी कुंवारी से प्रेम और कामसुख ।
तुर्श (खट्टा मेदा) खाना – रंज और दुःख का सामना हो । चिन्ताएं घेरे रहे । परेशानी सामने आए । दान के शुभ कार्य करे तो कठिनाई दूर हो ।
तिलिस्म देखना – चिरायु हो, बड़े लोगों की संगति हो, दुश्मन नीचा देखें । कोई शुभ समाचार आए ।
थूकना किसी पर – जिस पर थूकेगा उस पर दुःख पहुंचे । यदि दुश्मन पर थूके तो दुश्मन परास्त हो, थूक जिस पर गिरे वह मर जाए या फिर अपमानित हो ।
दाँत (अपना) उखाड़ना – माल जमा हो, लोगों के साथ निर्दयता का व्यवहार करे । सावधान रहना चाहिए ।
कांटेदार दरख्त देखना – बीमारी और दुःख पाए परेशानियां भोगे, व्यापार शुरू करने का इरादा हो तो न करे घाटा होगा ।
दाँत कुरेदना – अपनों से दुश्मनी हो या कोई ऐसा काम करे जिसमें उसे अपनों बेगानों के सामने लज्जित होना पड़े ।
दाढ़ी देखना – हर तरफ इज्जत हो । समाज में ऊँचा स्थान प्राप्त हो । लोग बात को मानें और पसन्द करे । दाढ़ी जितनी घनी देखेंगे उतनी ही इज्जत बढेगी ।
दुशाला देखना – किसी बड़े आदमी की बातों से खुशी हो, विद्या की प्राप्ति हो । विद्यार्थी देखे तो परीक्षा में उत्तीर्ण हो ।
दवाई पीना – बुरे काम त्याग दे और सीधा रास्ता अपनाए । पापों का प्रायश्चित करे अच्छा आदमी बन जाए ।
दरिया (नदी) देखना – नेता या बड़े अधिकारी से दोस्ती का लाभ हो । धन बहुत हाथ आए, जिस व्यापार में हाथ लगाए घाटा न हो तो इरादा करे पूरा हो जाए, खुशी का समाचार मिले डूबता देखे तो हानि हो तैरना देखे तो सफलता पाए ।
दौलत देखना – पत्नी गर्भवती हो, किसी स्त्री से लाभ हो, सन्तान की प्राप्ति हो, व्यापार में लाभ हो, खुशी ही खुशी है ।
दलदल देखना – परेशानी हर प्रकार के होने का संकेत है । चिन्तायें घेरे रहेगी ।
देगची देखना – पवित्र स्त्री से निकटता पाए, धन मिले, शुभ समाचार मिले चूल्हा भी साथ में देखे तो बढ़िया घर बनवाए खाने की कभी तंगी न हो ।
धुआँ देखना – दुःख कष्ट, यातनायें मिले, शहर में दंगा फसाद हो, देश में युद्ध हो, मित्रों से बुराई हो, दान करे और शुभ कार्यों तथा अच्छी संगत में समय लगाएं ।
धोबी देखना –
काम सफल होगा, बुरी आदतों का मैल जीवन से धुल जाएगा, चिंता की बात नहीं ।
धार्मिक ग्रन्थ देखना – विद्वान बने, इज्जत पाए, दीन दुखियों में भलाई हो, किसी प्रकार का दुःख न रहे । खुशहाल रहे ।
नाव देखना – कुंवारी से काम सुख प्राप्त हो । यदि स्त्री देखे तो पुरुष मनपसंद मिले और लाभ उठाए । हर प्रकार का सुख मिले ।
नान देखना – मित्रों से मिलन हो । धन और आराम का संकेत है चिरायु हो, बिगड़े काम बन जायेंगे ।
नशे में (स्वयं को) देखना – अमीरी और ऐश का संकेत है, इतना धन मिले कि अपने कर्त्तव्य को भूल जाए जैसे नशे में मनुष्य को कुछ याद नहीं रहता है ।
नमाज पढ़ते देखना – हर प्रकार के सांसारिक कष्टों से बचाव होगा. व्यापार में वृद्धि और दोस्तों की संख्या बढ़ेगी । दुश्मन घटेंगे, कोई कष्ट नहीं होगा । जीवन में खुशहाली आने का संकेत है ।
नदी / नाले में गिरते देखना – कई प्रकार के संकट घेर लें लेकिन अन्त में दुःख दूर हो और खुशहाली आए । दान देकर संकट दूर करें ।
नथनी देखना – पत्नी कुंवारी मिले । काम सुख मिले । वेश्यागमन न करे अन्यथा बदनाम होकर अपमानित होगा ।
नीम का पेड़ देखना – रोग कटेगा, प्रतिदिन सेवन करें, पुत्र शक्तिशाली पत्नी निरोग मिले ।
नीलम ( रत्न ) देखना – मनोकामना पूर्ण होगी । दुश्मन परास्त होंगे, प्रेमिका से मिलन होगा ।
पाँव देखना – जिसे देखे उसकी आयु बढ़े, परेशानी दूर हो । खोये हुए के मिलने का समाचार मिले ।
पालदार नौका देखना – शत्रु पर विजय प्राप्त हो । तीर कमान और अन्य हथियारों के विषय में भी यही फल विचारने वालों ने बताया है ।
पासा फेंकते देखना – मुकद्दर से संघर्ष हो रहा है, अभी थोड़ा समय है सफलता में ।
पंजा कटा देखना – कष्ट और दुःखों का संकेत है, किसी प्रकार की हानि का सामना करना पड़ सकता है । सावधान रहना चाहिए ।
पिस्तान (औरत की छाती) देखना – पत्नी मिले, सन्तान की प्राप्ति हो, हर प्रकार का सुख मिलने का संकेत है ।
पलंग देखना – दुनिया में झूठा बनकर अपमानित होगा, लोग विश्वास नहीं करेंगे, अत्यन्त नीच समझा जाएगा, सावधान रहे ।
फूल देखना – सपने में सफेद तथा रंगीन फूल दिखाई दे तो पुत्र की प्राप्ति हो, धन का लाभ हो, चैन राहत मिले । फूल काले हो तो दुःख मिले । फूल के पास कंटीली झाड़ियां देखे तो मुसीबतों के बाद राहत मिले ।
फावड़ा देखना – कठिन परिश्रम के पश्चात् ही सुख मिलेगा । मेहनत की कमाई खायेगा और हर प्रकार की शान्ति रहेगी किन्तु धन की कमी रहेगी ।
फटे हुए कपड़े देखना – चिन्ताओं में घिर जाना पड़े । दुःख मिले, धन की हानि । यही हाल फटे पुराने जूते देखने का है । दान करें ईश्वर की उपासना करें ।
फकीर देखना – दुनिया और दीन में भलाई होगी । मनोकामना पूरी होगी । साधु सन्तों की संगति मिलेगी, जीवन सफल हो जाएगा ।
फर्श (बिछा हुआ) देखना – किसी की शादी या मृत्यु का समाचार मिले । सरकार दरबार में सम्मान पाए ।
बालू रेत देखना – अधिक देखे तो कम धन का लाभ, कम देखे तो अधिक धन का लाभ होता है । बालू को छानते देखे तो परेशानी हो लेकिन दुश्मन से मुक्ति माल का व्यय, अकारण राज्य पर संकट ।
बिच्छू देखना – दुश्मनों से कष्ट मिले, हानि पहुंचे, सावधान रहना आवश्यक है ।
बर्फ खाते देखना – दिल की खुशी हो, किसी तरह की चिन्ता हो तो दूर हो जाए, खुशी और समृद्धि मिले ।
बादाम देखना – धन, व्यापार और काम में उन्नति नौकरी में ऊँची पदवी मिले, हर तरह का सुख मिले, स्त्री चैन पाये ।
बरसात देखना – यदि तमाम बस्ती पर पानी बरसता देखे तो खुशहाली और सुख है । केवल अपने घर में देखे तो तबाही और दुःख होगा । बरसाती या छतरी लगाकर के चलता देखे तो दुःख दूर होंगे, सुख मिलेगा ।
बांसुरी देखना – मृत्यु निकट है या फिर बहुत दुःखदायी बीमारी का सामना करना होगा । दान दे शुभ कार्य करे ।
बाजू देखना – यदि कोई खुवाब देखे कि उसकी अपनी बांह कट गई है अपने भाई या किसी निकटवर्ती सम्बन्धी की मृत्यु का समाचार है ।
भोजन की थाली देखना – ऐश और आराम का संकेत है, लेकिन कठिन मेहनत के पश्चात् ।
भिखारी देखना – कोई अच्छा कार्य करे, राहत होगी ।
भैंस देखना – धन भोजन की प्राप्ति ।
मिठाई खाना – सुख पाए, दोस्ती बढ़े, प्रेम और स्नेह पाए, प्रेमिका से मिलन हो पत्नी मन पसन्द पाए, बिगड़े काम बन जायेंगे ।
मछली देखना – एक या दो देखे तो सुन्दर हसीना से विवाह हो, बड़ी हो तो खूब धन पाए और छोटी हो तो गरीबी और तंगी का सामना करना पड़े ।
मुर्दा शरीर से आवाज सुनना – उस उद्देश्य की प्राप्ति होगी । जिसको पाने के बाद भी निराशा ही हाथ लगेगी, लाभ नहीं होगा, होगा तो काम न आएगा ।
मुर्दा उठाकर ले जाते हुए देखना – हराम का माल हाथ आए जिसका लाभ दूसरे उठायें । राहत नहीं मिलेगी । ऐसे माल के न मिलने की दुआ मांगे जो मुसीबतों में उलझा दे ।
मुर्दे को जिन्दा देखना – यदि वह वृद्ध हो तो ज्ञान प्राप्त करे, अच्छा काम करे । यदि वह सुन्दर और जवान है तो खुशहाली पाए । चिन्तायें समाप्त हों ।
मस्जिद देखना – यदि बनाते देखे तो मनोकामना पूरी हो, केवल देखे तो भी राहत हो । कहीं से शुभ समाचार होगा ।
मीट देखना – ज्ञान की वृद्धि, मनोकामना पूरी होगी जो इरादा है वह शीघ्र पूरा होगा ।
मिर्च खाना – लड़ाई हो लेकिन सुलह हो जाए, परीक्षा में उत्तीर्ण हो किसी की बात सहन न हो ।
मलाई खाना – धन का लाभ हो, बिना मेहनत दौलत मिले प्रेमिका से मिलन की आशा के विपरीत हो । खोया हुआ माल मिल जाये, जीवन में शान्ति और आराम मिले ।
मुरझाए फूल देखना – दुःख होगा, अशांति बढ़ेगी सन्तान की हानि ।
मोमबत्ती देखना – विद्वान बने खुशी पाये, पुत्र पाये, पत्नी सुन्दर से विवाह होगा ।
मुर्ग-मुसल्लम खाना – बहुत जल्दी उन्नति कारोबार की हो । धन का लाभ हो ख्याति पाये ।
मल-मूत्र देखना – लज्जा के काम करे । माहवारी के कपड़े, वीर्य के धब्बे देखे, तो भी ऐसा ही हो । जग हँसाई हो, पाप कमाये, दान दे, सज्जन पुरुषों की संगति करे तो काफी लाभ होगा ।
रेलगाड़ी देखना – यात्रा हो, कष्ट हो लेकिन अन्त में राहत मिले, कोई शुभ सन्देश मिलेगा, सावधानी की आवश्यकता है ।
रेलवे स्टेशन देखना – यात्रा होगी, लाभ होगा, सकुशल लौटना होगा, खुशी मिलेगी ।
रेडियो देखना – कोई लाभ न कोई हानि केवल समय का ध्यान आपको नहीं है इस मारे प्रगति नहीं कर रहे ।
रद्दी का ढेर देखना – धन काठ कबाड़ से प्राप्त हो, रोकड़ हाथ आये, व्यापार पुराने माल का शुभ है ।
लिबास मैला देखना – रंज परेशानी और बदहाली का संकेत है । ऐसे काम हो जिनसे लज्जित होना पड़े । लिबास साफ सफेद हो तो सुख हो । पीला छोड़कर किसी रंग का लिबास दरबार में पहुंचे हो । केवल पीले वस्त्र देखने पर तबाही, बरबादी और दुःख की सम्भावना है ।
लिंग (बड़ा) देखना – सन्तान खूब हो । स्त्री सुख प्राप्त हो । काम वासना बढ़ी रहे । शक्ति प्राप्त हो और वासना के नशे में चूर रहे । लिंग और योनी एक साथ देखने का फल यह है कि चिन्तायें घेर लें । यदि किसी से सम्बन्ध हो तो उससे राहत पाये ।
लगाम देखना – ईमानदारी और अच्छे काम करके लोकप्रिय हो जाएगा ।
लुहार देखना – कड़ी मेहनत करनी होगी तब अपार सुख मिलेगा शक्ति बढ़ेगी, शत्रु नीचा देखेंगे, तेज और ख्याति बढ़ेगी ।
लोमड़ी देखना – मक्कार निकटवर्ती लोगों से हानि हो, पत्नी मनपसन्द न मिले ।
लंगूर देखना – मुसीबतों का अन्त होने का समय आ गया है यदि लंगूर पेड़ पर है तो देर लगेगी, धरती पर है तो शीघ्र सारी उलझनों का अन्त होगा । कहीं से आशा के विपरीत शुभ समाचार मिलेगा ।
लंगोटी देखना – आर्थिक कठिनाइयों का सामना रहे, परदेश जाना पडे तो भलाई की आशा है ।
वसीयत करना – समय कम है जितने नेक काम कर सकता हो कर ले । दान और खुदा से दुआ मांगे कि अन्त अच्छा हो ।
वकील देखना – कोई सहायक और मित्र बने जो उसे कठिनाइयों से निकाले मुकदमा चल जाए लेकिन विजय उसी की है ।
शराब देखना – हराम की कमाई से माल मिले, इज्जत खराब हो या दुश्मनी लडाई से कष्ट उठाने का संकट है ।
शरबत देखना – चिरायु हो, बीमार हो तो अच्छा हो जाए, परेशानी दूर हो, मित्रों से प्यार बढें रंज दूर हो ।
शतरंज देखना – वाहियात और व्यर्थ के कामों में समय बरबाद न करे यदि किसी से लड़ाई हो तो विजय पाये ।
सिलबट्टा देखना – सास ननद में कलह हो दुःख पाये अशांत रहे ।
सांप देखना – यदि सांप को मार दिया है या पकड़ लिया देखा है तो दुश्मन पर विजय मिले । आशा के विपरीत धन मिले । यदि साप से डर गया है तो दुश्मन से खतरा है, कोई मित्र ही शत्रु का रूप धारण कर सकता है । सांप को घर में देखे तो पत्नी से बेवफाई का डर है ।
सर्कस देखना – बहुत कठिनाई से दुनिया को खुश कर सकते हैं ।
सारंगी देखना – वेश्यागमन में समय, धन नष्ट करे ।
सीमा पार करना – विदेशी व्यापार से लाभ ।
सूअर देखना – बदमाशों और कमीनों का मुखिया बने, बेशर्म और कुकर्मी बनकर बदनाम हो । सुअर देखने वाला सावधान होकर ईश्वर की उपासना करे ।
सूर्य देखना – तेज बढ़े, ख्याति और धन की समृद्धि बढ़े, यशस्वी पुत्र प्राप्त हो । पत्नी का सुख मिले ।
सुलगती हुई आग देखना – दुःख बीमारी, दुश्मन से चिन्ता, शोक समाचार मिले ।
स्त्री की छाती से दूध टपकना – काम सुख मिले, पुत्र का जन्म हो, ससुराल से माल मिले ।
सीपी देखना – पानी में देखें तो हानि रेत पर पाये तो लाभ होगा ।
स्याही देखना – अपने कुल का मुखिया बने । टोले मुहल्ले के लोगों का अगुवा बने । सरकार में सम्मान प्राप्त हो ।
सायरन सुनना – भय से चिन्ता हो, शत्रु शक्तिशाली हो, लेकिन शीघ्र ही चिन्ता मुक्त हो ।
संदूक देखना – पत्नी या बांदी ऐसी मिले जिससे खूब सेवा मिले, दिल को चैन हो. खुशी का समाचार मिले आशा के विपरीत धन मिले ।

 

 

Content Protection by DMCA.com

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.