Print Friendly, PDF & Email

दश महाविद्या जयन्ती
१॰ श्री भुवनेश्वरी जयन्तीः- भाद्रपद शुक्ला द्वादशी, रविवार ।
२॰ श्री काली जयन्तीः- भाद्रपद कृष्ण अष्टमी को अर्द्ध-रात्रि ।
३॰ श्री ललिता जयन्तीः- माघ पूर्णिमा को प्रदोष समय ।
४॰ श्री तारा जयन्तीः- चैत्र शुक्ल नवमी, शनिवार को मध्य रात्रि ।
५॰ श्री छिन्न-मस्ता जयन्तीः- वैशाख शुक्ल चतुर्दशी को अर्द्ध-रात्रि ।
६॰ श्री मातंगी जयन्तीः- वैशाख शुक्ल तृतीया, गुरुवार ।
७॰ श्री बगलामुखी जयन्तीः- वैशाख शुक्ल चतुर्थी, शनिवार ।
८॰ श्री धूमावती जयन्तीः- ज्येष्ठ शुक्ल अष्टमी, बुधवार ।
९॰ श्री कमला जयन्तीः- कार्तिक अमावस्या, चन्द्रवार ।
१०॰ श्री त्रिपुरा-भैरवी जयन्तीः- मार्गशीर्ष (अगहन) पूर्णिमा, अर्द्ध-निशा ।

दश महाविद्या प्रार्थना
दसों महाविद्याओं की कृपा प्राप्ति करने के लिये निम्नलिखित स्तोत्र का पाठ करें :-

श्यामा वत्सतया करोतु कुशलं तारा तनोतु श्रियम ।
दीर्घायुर्भुवनेश्वरीं वितनुतां विघ्नं हरेत षोडशी ।।
भैरव्यस्तु कुलावहा रिपु कुलं सा छिन्नमस्ता हरेत ।
मातंगी बगलामुखीं च कमला धूमावती पातु नः ।।

 

क्र॰ शक्ति नामान्तर रात्रि विद्या भैरव विष्णु अवतार ग्रह
1 महा-काली आद्या, प्रथमा महा-रात्रि महा-विद्या महा-काल श्रीकृष्ण शनि
2 तारा द्वितीया, तारिणी क्रोध-रात्रि महा-विद्या अक्षोभ्य मत्स्य गुरु
3 षोडशी महा-त्रिपुर-सुन्दरी दिव्य-रात्रि महा-विद्या पञ्च-वक्त्र कामेश्वर परशुराम बुध
4 भुवनेश्वरी राज-राजेश्वरी सिद्ध-रात्रि महा-विद्या त्र्यम्बक महादेव वामन चन्द्र
5 छिन्नमस्ता छिन्ना वीर-रात्रि विद्या कबन्ध, क्रोध-भैरव नृसिंह राहु
6 भैरवी त्रिपुर-भैरवी काल-रात्रि विद्या दक्षिणा-मूर्ति भैरव बलराम लग्न
7 धूमावती अलक्ष्मी दारुण-रात्रि विद्या काल-भैरव वाराह केतु
8 बगलामुखी वल्गामुखी, पीताम्बरा वीर-रात्रि सिद्ध-विद्या महा-रुद्र, मृत्युंजय श्री कूर्म मंगल
9 मातंगी सुमुखी मोह-रात्रि सिद्ध-विद्या मतंग, सदाशिव श्री राम सूर्य
10 कमला लक्ष्मी महा-रात्रि सिद्ध-विद्या सदा-शिव विष्णु शुक्र

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.