Print Friendly, PDF & Email

देवी कृपा-प्राप्ति के लिए
पहले कोई भी एक पुराना मन्दिर भग्न मन्दिर ढूंढ़े, जहाँ कोई न जाता हो । फिर किसी भी दिन वहाँ जाकर देवता को अक्षत आदि देकर निमन्त्रण दे दें कि आपकी कृपा के लिए मैं यहाँ ४० दिन नित्य आऊँगा ।
दूसरे दिन से रात को १२ बजे वहाँ जाकर यथा-शक्ति पूजन, नैवेद्य आदि करें । समय चूकना नही चाहिए ।

dugraइस प्रकार ४० दिन करें । मन में कुछ भी अपेक्षा न रखें । इस विधि से जो चमत्कार होगा, उसे स्वयं ही अनुभव कर ले । यहाँ यह उल्लेखनीय है कि ४० दिन की विधि पूर्ण करना कठिन है क्योंकि इन दिनो में एक-से-एक विध्न सामने आएंगे, जिससे देवता के पास पहुँच न सकें । जैसे कि रास्ते में विषधर भयभीत करेगा, डरावनी आवाजें सुनाई देगी । यही तो साधक की परीक्षा होती है । इन पर विजय पाकर ही विधि पूर्ण करनी होती है ।
साधक की योग्यतानुसार उसे किस प्रकार से लाभ होगा, इस विषय मे कुछ कहा नही जा सकता ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.