Print Friendly, PDF & Email

धन-प्राप्ति के लिए प्रभावी ‘शाबर’-मन्त्र
‘शाबर-मन्त्र-साधना’ में धन – प्राप्ति के लिए प्रभावी मन्त्र इस प्रकार है –
१॰ “ॐ श्रैं ह्रीं श्रीं श्रिये नमो भनवलि ! मम समृध्यौ जवल जवल, मा सर्व सम्पद देहि, ममालक्ष्मी नाशय नाराय, हुँ फट्र स्वाहा”
विधि : उक्त मन्त्र को उपयुंक्त विधि से २१ माला २१ दिनों तक नित्य जपे । २१ दिन तक मन्त्र जप करने के बाद धृत से १०८ आहुतियां दे । इससे मन्त्र सिद्ध हो जाएगा । इसके बाद नित्य एक माला ‘जप’ करने से धन-धान्य की वृद्धि होती रहेगी ।

२॰ “कुबेर ! त्वं धनाधीश, गृहे ते कमला स्थिता, ता देवी प्रशयाशुं, त्वं मद गृहे ते नमो नमः ।।”
विधि : उक्त मन्त्र का २१ दिनों तक नित्य ९ माला जप करे । इस प्रकार मन्त्र-जाग्रत करने के बाद गो-धृत, दूर्वा (दूब) और पुष्प से १०८ आहुतियाँ दे । इससे दरिद्रता दूर होगी ।
३॰ “ॐ तारत्रि नमः । ऋद्धि-वृद्धि कुरु-कुरु स्वाहा ।”
विधि : पवित्र भाव से रात्रि के १२ बजे के बाद (मध्य-रात्रि में), धूप-दीप जलाकर उक्त मन्त्र का ११८८ बार जप करे । ऐसा २१ दिनों तक करे । इस मन्त्र से शीघ्र प्रगति होती है और अनायास धन की प्राप्ति होती है । ‘ग्रहण-काल’ में घृत-दूर्वा-काली मिर्च-जटामांसी मिलाकर १०८ आहुतियाँ दे । नित्य १ माला ‘जप’ करता रहे ।

४॰ “ॐ ऐं ह्रीं श्रीं सं सिद्धिदा ! साधय साधय स्वाहा ।”
विधि : पूर्वोक्त विधि । यह मन्त्र ऋण – मुक्ति हेतु विशेषतया लाभ-कारी है ।

५॰ “आं ह्रीं क्रौं श्रीं श्रियै नमः । ममालक्ष्मी नाशय नाशय । माम ऋणौतीर्ण कुरु कुरु, सम्पदं वर्धय वर्धय, स्वाहा ।”
विधि : उक्त मन्त्र की जप-संख्या दश हजार है । ४४ दिनों का अनुष्ठान है । नित्य २२८ बार ४३ दिनों तक ‘जप’ करे और ४४ वें दिन १८६ बार ‘जप’ करे । बाद में नित्य दस बार मन्त्र जपता रहे । इससे धन-सम्पदा की प्राप्ति होती है और ऋणों से निवृत्ति होती है ।

2 comments on “धन-प्राप्ति के लिए प्रभावी ‘शाबर’-मन्त्र

  • ४॰ “ॐ ऐं ह्रीं श्रीं सं सिद्धिदा ! साधय साधय स्वाहा ।”
    विधि : पूर्वोक्त विधि । यह मन्त्र ऋण – मुक्ति हेतु विशेषतया लाभ-कारी है ।

    पूर्वोक्त विधि मतलब क्या है? और इस मंत्र का कितनी बार और कीस समय जाप करना चाहिये ?
    कृपया बताये…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.