Print Friendly, PDF & Email

भगवान् श्रीकृष्ण से सर्वमनोकामना पूर्ति हेतु सरल अनुष्ठान

मन्त्रः-
ॐ ऐं ह्रीं श्रीं नमो भगवते राधाप्रियाय राधारमणाय
गोपीजनवल्लभाय ममाभीष्टं पूरय पूरय हुं फट् स्वाहा ॥


इस मन्त्र को कदम्बकाष्ठ की छोटी पीठिका (चौकी) – पर अष्टगन्ध अथवा कपूर और केशर से अनार की कलम से लिखकर षोडशोपचार से पूजन करे । परंतु प्रतिदिन का जप १८०० से कम नहीं होना चाहिये । कुल जप-संख्या सवा लाख है । फिर साढ़े बारह हजार दशांश होम के लिये जप करना चाहिये ।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.