भैरों सिद्धि का मन्त्र
मन्त्रः- “भैरों ऐंडी, भैरों मैंडी, भैरों सबका दूत । देवी का दूत, देवता का दूत । गुरु का दूत, पीर का दूत । नाथों का दूत, पीरों का दूत । भैरों छड़िया कहाए जहाँ, सिमरूँ तहाँ आए । जहाँ भेजूँ, तहाँ जाए । चले मन्त्र, फुरे वाचा । देखूँ छड़िया भैरों, तेरे इल्म का तमाशा ।।”

images
विधि — श्मशान – घाट में भैरों के पूजन के उपरान्त १० माला ७ दिन तक ‘जप’ करे । सातवें दिन, मांस-मछली और मद्य से ‘आहुति’ दें ।
फिर पौबाटे (चौराहे) में बैठ कर १० माला ७ दिन ‘जप’ करे । सातवें दिन उड़द के बड़े, मांस और मद्य की ‘आहुति’ दें ।
इसके बाद घर के एकान्त कमरे में सात दिन १० माला ‘जप’ करे और सातवें दिन उड़द के बड़े, बाकला और मद्य से ‘आहुति’ दे ।
इससे भैरों बाबा प्रसन्न होकर साधक को सभी प्रकार सहायता प्रदान करते हैं 1 किसी का अपकार न करे ।

Content Protection by DMCA.com

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.