Print Friendly, PDF & Email

विपत्ति नाशक व सुख-प्राप्ति का मन्त्र
मन्त्र:-
“राजिव नयन धरें धनुसायक ।
भगति बिपति भंजन सुखदायक ।।”

मन्त्र की प्रयोग विधि और लाभ
रुद्राक्ष की माला पर शनिवार से प्रारम्भ करके ५०० जप प्रतिदिन करें और ४० दिन तक करते रहें ।
इस मन्त्र के प्रयोग से समस्त विपत्तियों का अन्त होकर सुख प्राप्त होता है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.