Print Friendly, PDF & Email

हनुमान् जी की कृपा पाने का मन्त्र

“प्रनवउँ पवनकुमार खल बन पावक ग्यानधन ।
जासु हृदय आगार बसहिं राम सर चाप धर ।।”hanuman
मन्त्र की प्रयोग विधि और लाभ
सिन्दूर चढ़ी मारुति की पूजा करके रक्त-चन्दन की माला से १००० बार प्रतिदिन इस मन्त्र का जप करें । इस जप को २१ दिन तक करते रहें और इसका शुभारम्भ मंगलवार से हीं करें ।
इस प्रकार से मन्त्र का प्रयोग करने पर हनुमान जी की विशेष अनुकम्पा प्राप्त होती है । अला-बला, किये-कराये अभिचार का अन्त हो जाता है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.