Print Friendly, PDF & Email

हनुमान ज्योतिष
साधक स्नानादि के बाद शुद्ध वस्त्र पहनकर सर्वप्रथम पाँच बार “ॐ रां रामाय नमः” का जप करने के पश्चात् ग्यारह बार “ॐ हनुमते नमः” मंत्र का जप करें । तदुपरान्त आँख बन्द कर अपनी मनोकामना मन में बोलते हुए  आँख बन्द करएक से सात तक में से कोई एक अंक मन में विचार करें। अब आँखें खोलकर समस्या से सम्बन्धित विभाग में उस अंक का फल ज्ञात करें।
अस्वस्थता
१॰ रोग का उपाय करें, लाभ मिलेगा ।
२॰ भक्ति में ही शक्ति है, इष्टदेव की भक्ति एवं उपासना करें । रोग से मुक्ति मिलेगी ।
३॰ रोग गम्भीर है, भारी परेशानी रहेगी ।
४॰ अभी स्वस्थ होने में न्यूनतम छः माह लगेंगे ।
५॰ उपचार में परिवर्तन करें, शीघ्र लाभ मिलेगा ।
६॰ दूसरे स्थान पर जाँए, जलवायु बदलने से लाभ मिलेगा ।
७॰ प्रारब्ध का फल है, मुक्ति मिलना कठिन है ।
मुकदमेबाजी
१॰ कष्ट का निवारण शीघ्र होगा ।
२॰ विवाद से हुई बदनामी काफी खर्चे के बाद दूर होगी ।
३॰ समझौता करना ही लाभकारी रहेगा, अन्यथा असफलता हाथ लगेगी ।
४॰ मन की बात मन में रखें । “हनुमते रुद्रकाय हुं फट्” मन्त्र का जप करें ।
५॰ परमात्मा पर विश्वास रख पूजा-अर्चना करें, आपकी जीत होगी ।
६॰ अपने-पराए की पहचान करना शुरु करें । स्थिति स्पष्ट हो जाएगी ।
७॰ विवाद लालच में पड़कर किया गया है, अतः इसे अपनी ओर से ही समाप्त कर दे ।
आर्थिक चिन्ता
१॰ धन प्राप्ति में विलम्ब होगा ।
२॰ परार्थ बुद्धि से दूसरों की मदद करने से लाभ मिलेगा ।
३॰ आपके पास धन है और धन की प्राप्ति होगी ।
४॰ कर्म पर ध्यान दें । इससे काफी धन प्राप्त होगा ।
५॰ हर कार्य खुशी से करें । धनोपार्जन होगा ।
६॰ आपका धन सुरक्षित रहेगा । व्यर्थ चिन्ता न करें ।
७॰ धन के लिए दोस्तों से विवाद उचित नहीं ।
आजीविका साधन
१॰ व्यापार में निवेश करें, लाभ होगा ।
२॰ अपना स्वयं का व्यापार होगा ।
३॰ दक्षिण या पश्चिम में व्यापार करें ।
४॰ उधार लेकर व्यापार करना उचित नहीं ।
५॰ अभी सफलता मुश्किल है । प्रयास जारी रखें ।
६॰ सभी अपनों का परामर्श लेकर कदम उठाएँ ।
७॰ कम प्रयास से अधिक लाभ मिलेगा ।
दाम्पत्य सुख
१॰ दाम्पत्य प्रेम में वृद्धि होगी ।
२॰ प्रेम होगा, किन्तु विवाह के पश्चात् ।
३॰ जीवन-साथी के आने से भाग्योदय, प्रेम भी बढ़ेगा ।
४॰ परायों के कारण परेशानी उत्पन्न होगी । “ॐ नमः शिवाय” के जप करें ।
५॰ वाणी में मधुरता रखें, अन्यथा मतभेद निरन्तर बढ़ेंगे ।
६॰ पैसों को लेकर तनाव और कलह रहेगी ।
७॰ दम्पत्ती को खुशियाँ मिलेंगी ।
विद्या-अध्ययन
१॰ पढ़ाई-लिखाई पर ध्यान दें । परिश्रम से ही सफलता मिलेगी ।
२॰ परीक्षा की तैयारी में मनोयोग से जुट जाएँ । सफलता प्राप्त होगी ।
३॰ विद्याध्ययन में सफलता विलम्ब से प्राप्त होगी ।
४॰ सामान्य विद्या से ही सन्तोष करना पड़ेगा । सरस्वती स्तोत्र का नियमित पाठ करें ।
५॰ विदेश में शिक्षा प्राप्ति की सम्भावना है ।
६॰ विभिन्न विषयों में अच्छी सफलता प्राप्त होगी ।
७॰ परीक्षा में सफलता तो मिलेगी, लेकिन श्रेणी उच्च नहीं रहेगी ।
प्रेम में सफलता
१॰ सफलता का योग है ।
२॰ तीसरे व्यक्ति के बीच से हटने के बाद सफलता ।
३॰ अभी सफलता प्राप्त होने में विलम्ब है ।
४॰ प्रेम विवाह का परिणाम अच्छा रहेगा ।
५॰ प्रेम विवाह में बाधा ।
६॰ सफलता मिलेगी, परन्तु देरी से ।
७॰ आसानी से सफलता मिलेगी ।
विवाह
१॰ दक्षिण दिशा में विवाह का योग है, लेकिन अभी देरी है ।
२॰ शीघ्र ही आपकी मनोकामना पूरी होगी ।
३॰ विवाह में बाधाएँ आएँगी ।
४॰ शिव-गौरी का पूजन और ‘मंगल-स्तोत्र’ का पाठ करें ।
५॰ दो चर्ष के बाद विवाह का योग है ।
६॰ अभी विवाह में अड़चनें हैं ।
७॰ शीघ्र विवाह होगा ।
सन्तानोत्पत्ती
१॰ सन्तान गुणवान् होगी ।
२॰ भाग्यशाली पुत्र की प्राप्ति होगी ।
३॰ तीन सन्तानें प्राप्त करने के योग हैं ।
४॰ पति का इलाज कराएँ ।
५॰ फिलहाल कोई सम्भावना नहीं ।
६॰ पत्नी सोमवार और गुरुवार को पूजा करे, सन्तान प्राप्ति होगी ।
७॰ कुछ माह में सन्तान होने की सम्भावना है ।
अच्छा समय
१॰ आलस्य छोड़ें, कर्म में जुटें, छः महिने में सफलता मिलेगी ।
२॰ अपनों की सलाह से चलें, मनमानी और जिद छोड़ें ।
३॰ भाग्य अभी साथ नहीं दे रहा है, कुछ माह बाद साथ देगा ।
४॰ बुजुर्गों का आदर करें तथा दान-पुण्य करते रहें, लाभ मिलेगा ।
५॰ पत्नी की सहायता से बुरा समय जल्दी कट जाएगा ।
६॰ दो साल तक और अच्छे समय का इन्तजार करना पड़ेगा ।
७॰ शीघ्र ही आपका अच्छा समय आने वाला है ।
चोरी गये धन की प्राप्ति
१॰ शीघ्र ही मनोकामना पूरी होगी ।
२॰ जो वस्तु खोई है, उसे अपने घर के उत्तर-पश्चिम में खोजें, मिल जाएगी ।
३॰ किसी पर आरोप लगाना ठीक नहीं । चोर बाहरी है, वस्तु नहीं मिलेगी ।
४॰ आपकी खोई वस्तु नष्ट कर दी गई है ।
५॰ बहुत प्रयासों के बावजूद थोड़ी-सी सफलता की किरण नजर आएगी ।
६॰ वस्तु मिल जाएगी, परन्तु चोर नहीं मिलेगा ।
७॰ आपके मित्र ने ही यह कार्य किया है, उससे सतर्क रहें ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.